सपा और बसपा के बीच हुआ गठबंधन, लेकिन मायावती ने सपा को साथ में बोली ये बड़ी बात

0
292

भारत का सबसे बड़ा राज्य है उत्तर प्रदेश में चुनाव की सरगर्मी हमेशा ही तेज रहती है और इसी बीच अब सपा और बसपा के बीच गठबंधन हो गया है.

हालांकि, सपा और बसपा के बीच का गठबंधन सिर्फ 2 लोकसभा सीटों के बीच ही हुआ है, लेकिन भविष्य में ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि या गठबंधन और ज्यादा सीटों के लिए भी हो सकता है

आपको बता दे, कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा सीट फूलपुर और गोरखपुर में उपचुनाव होने वाले हैं और इन्हीं दोनों सीट पर चुनाव के लिए बसपा ने सपा को समर्थन दिया है.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए BSP की मुखिया मायावती ने साफ किया कि यह समर्थन सिर्फ बीजेपी को उपचुनाव में हराने के लिए है.

इसके साथ-साथ उन्होंने यह भी साफ किया कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव बीएसपी समाजवादी पार्टी से कोई गठबंधन नहीं करेगी.

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से इस बात की चर्चा हो रही थी कि लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी एक साथ आ सकते हैं, लेकिन तमाम खबरों पर विराम लग गया जब बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि यह समर्थन सिर्फ 2 लोकसभा सीटों के लिए ही है. उन्होंने आगे कहा था कि उत्तर प्रदेश में अगर उनका गठबंधन सपा के संग होगा तो वो गुपचुप नहीं बल्कि खूलकर होगा.

उन्होंने आगे कहा, कि गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में बसपा ने कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है. इसका मतलब यह नहीं कि पार्टी के लोग अपना वोट नहीं डालेंगे. बसपा मताधिकार का सही इस्तेमाल करेगी. उन्होंने अपने बयान में कहा कि यदि लोकसभा चुनाव घोषित नहीं हुए हैं और उनकी पार्टी उन चुनाव में सही समय पर अंतिम निर्णय लेगी.

अगर बात करें लोकसभा चुनाव की तो फूलपुर में बीजेपी की स्थिति मजबूत है वहीं गोरखपुर में भी बीजेपी को हराना लगभग असंभव सा ही है. इन दोनों पार्टियों के साथ आने के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीति में काफी उथल-पुथल देखने को आगे मिल सकती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here